http://ASTRODEEPALI.COM
DEEPALIASTROCARSNOIDA 5a71e453d7ba54050c4e2954 False 141 6
OK
background image not found
Updates
2018-07-11T05:23:37
update image not found
Astrology / Tarot Cards don’t change your destiny but make your way smoother to achieve your Life Goals. also secures your life against upcoming accidents. It is always better to Prevent & Prepare rather than repent & repair. Deepali Astro is Tarot Card Reader, Astrologer & Paranormal Expert in Noida...
2018-07-08T04:28:01
update image not found
Astrology / Tarot Card Reading is like Umbrella ☔️ in the rain 🌧, You can’t stop the rain but can be prepared for all the upcoming situations, and can minimise the loss.
2018-07-07T04:42:47
update image not found
महाविद्याओं में दसवें स्थान पर विद्यमान 'देवी कमला', धन, वैभव, सुख प्रदाता। - By Deepali Astro, Astrologer in Noida धन तथा समृद्धि दात्री, दिव्य एवं मनोहर स्वरूप से संपन्न, पवित्रता और स्वछता से सम्बंधित "देवी कमला"। देवी कमला या कमलात्मिका, दस महाविद्याओं में दसवें स्थान पर अवस्थित तथा कमल या पद्म पुष्प के समान दिव्यता की प्रतीक हैं। देवी कमला, तांत्रिक लक्ष्मी के नाम से भी जानी जाती हैं, देवी का सम्बन्ध सम्पन्नता, सुख, समृद्धि, सौभाग्य और वंश विस्तार से हैं। दस महाविद्याओं की श्रेणी में देवी कमला अंतिम स्थान पर अवस्थित हैं। देवी सत्व गुण से सम्बद्ध हैं, धन तथा सौभाग्य की अधिष्ठात्री देवी हैं। स्वच्छता, पवित्रता, निर्मलता देवी को अति प्रिय हैं तथा देवी ऐसे स्थानों में ही वास करती हैं। प्रकाश से देवी कमला का घनिष्ठ सम्बन्ध हैं, देवी उन्हीं स्थानों को अपना निवास स्थान बनती हैं जहां अँधेरा न हो, इसके विपरीत देवी की बहन अलक्ष्मी, ज्येष्ठा, निऋति जो निर्धनता, दुर्भाग्य से सम्बंधित हैं, अंधेरे तथा अपवित्र स्थानों को ही अपना निवास स्थान बनती हैं। देवी कमला के स्थिर निवास हेतु स्वच्छता तथा पवित्रता अत्यंत आवश्यक हैं। देवी की आराधना तीनों लोकों में सभी के द्वारा की जाती हैं, दानव या दैत्य, देवता तथा मनुष्य सभी को देवी कृपा की आवश्यकता रहती हैं; क्योंकि सुख तथा समृद्धि सभी प्राप्त करना चाहते हैं। देवी आदि काल से ही त्रि-भुवन के समस्त प्राणियों द्वारा पूजित हैं। देवी की कृपा के बिना, निर्धनता, दुर्भाग्य, रोग ग्रस्त, कलह इत्यादि जातक से सदा संलग्न रहता हैं परिणामस्वरूप जातक रोग ग्रस्त, अभाव युक्त, धन हीन, निराश, उदास रहता हैं। देवी कमला ही समस्त प्रकार के सुख, समृद्धि, वैभव इत्यादि सभी प्राणियों, देवताओं तथा दैत्यों को प्रदान करती हैं। एक बार देवता यहाँ तक ही भगवान विष्णु भी लक्ष्मी हीन हो गए थे, परिणामस्वरूप सभी दरिद्र तथा सुख-वैभव रहित हो गए थे। संक्षेप में देवी कमला से सम्बंधित मुख्य तथ्य। मुख्य नाम : कमला। अन्य नाम : लक्ष्मी, कमलात्मिका। भैरव : श्री विष्णु। भगवान विष्णु के २४ अवतारों से सम्बद्ध : मत्स्य अवतार। तिथि : कोजागरी पूर्णिमा, अश्विन मास पूर्णिमा। कुल : श्री कुल। दिशा : उत्तर-पूर्व। स्वभाव : सौम्य स्वभाव। कार्य : धन, सुख, समृद्धि की अधिष्ठात्री देवी। शारीरिक वर्ण : सूर्य की कांति के समान। Deepali Astro is Tarot Card Reader, Astrologer & Paranormal Expert in Noida
2018-07-03T11:50:20
update image not found
महाविद्याओं में दसवें स्थान पर विद्यमान 'देवी कमला', धन, वैभव, सुख प्रदाता। - By Deepali Astro, Astrologer in Noida धन तथा समृद्धि दात्री, दिव्य एवं मनोहर स्वरूप से संपन्न, पवित्रता और स्वछता से सम्बंधित "देवी कमला"। देवी कमला या कमलात्मिका, दस महाविद्याओं में दसवें स्थान पर अवस्थित तथा कमल या पद्म पुष्प के समान दिव्यता की प्रतीक हैं। देवी कमला, तांत्रिक लक्ष्मी के नाम से भी जानी जाती हैं, देवी का सम्बन्ध सम्पन्नता, सुख, समृद्धि, सौभाग्य और वंश विस्तार से हैं। दस महाविद्याओं की श्रेणी में देवी कमला अंतिम स्थान पर अवस्थित हैं। देवी सत्व गुण से सम्बद्ध हैं, धन तथा सौभाग्य की अधिष्ठात्री देवी हैं। स्वच्छता, पवित्रता, निर्मलता देवी को अति प्रिय हैं तथा देवी ऐसे स्थानों में ही वास करती हैं। प्रकाश से देवी कमला का घनिष्ठ सम्बन्ध हैं, देवी उन्हीं स्थानों को अपना निवास स्थान बनती हैं जहां अँधेरा न हो, इसके विपरीत देवी की बहन अलक्ष्मी, ज्येष्ठा, निऋति जो निर्धनता, दुर्भाग्य से सम्बंधित हैं, अंधेरे तथा अपवित्र स्थानों को ही अपना निवास स्थान बनती हैं। देवी कमला के स्थिर निवास हेतु स्वच्छता तथा पवित्रता अत्यंत आवश्यक हैं। देवी की आराधना तीनों लोकों में सभी के द्वारा की जाती हैं, दानव या दैत्य, देवता तथा मनुष्य सभी को देवी कृपा की आवश्यकता रहती हैं; क्योंकि सुख तथा समृद्धि सभी प्राप्त करना चाहते हैं। देवी आदि काल से ही त्रि-भुवन के समस्त प्राणियों द्वारा पूजित हैं। देवी की कृपा के बिना, निर्धनता, दुर्भाग्य, रोग ग्रस्त, कलह इत्यादि जातक से सदा संलग्न रहता हैं परिणामस्वरूप जातक रोग ग्रस्त, अभाव युक्त, धन हीन, निराश, उदास रहता हैं। देवी कमला ही समस्त प्रकार के सुख, समृद्धि, वैभव इत्यादि सभी प्राणियों, देवताओं तथा दैत्यों को प्रदान करती हैं। एक बार देवता यहाँ तक ही भगवान विष्णु भी लक्ष्मी हीन हो गए थे, परिणामस्वरूप सभी दरिद्र तथा सुख-वैभव रहित हो गए थे। संक्षेप में देवी कमला से सम्बंधित मुख्य तथ्य। मुख्य नाम : कमला। अन्य नाम : लक्ष्मी, कमलात्मिका। भैरव : श्री विष्णु। भगवान विष्णु के २४ अवतारों से सम्बद्ध : मत्स्य अवतार। तिथि : कोजागरी पूर्णिमा, अश्विन मास पूर्णिमा। कुल : श्री कुल। दिशा : उत्तर-पूर्व। स्वभाव : सौम्य स्वभाव। कार्य : धन, सुख, समृद्धि की अधिष्ठात्री देवी। शारीरिक वर्ण : सूर्य की कांति के समान।
2018-06-17T03:42:43
update image not found
Vinayaka Chaturthi - By Deepali Astro, Astrologer in Noida ! Each lunar month in Hindu calendar has two Chaturthi Tithis. According to Hindu scriptures Chaturthi Tithi(s) belongs to Lord Ganesha. The Chaturthi after Amavasya or new moon during Shukla Paksha is known as Vinayaka Chaturthi and the one after Purnimasi or full moon during Krishna Paksha is known as Sankashti Chaturthi, Speaks Deepali Astro, renowned Tarot Card Reader in Noida Although Vinayaka Chaturthi fasting is done every month but the most significant Vinayaka Chaturthi falls in month of Bhadrapada. Vinayaka Chaturthi during Bhadrapada month is known as Ganesha Chaturthi. Ganesha Chaturthi is celebrated by Hindus all over the world as the birthday of Lord Ganesha. Deepali Astro is Astrologer, Tarot Card Reader & Paranormal Expert in Noida
false